BP Low Symptoms In Hindi – लक्षण, कारण और घरेलू नुस्खों के बारे में जानें

BP Low Symptoms In Hindi – लो ब्लड प्रेशर को या निम्न रक्तचाप को हाइपोटेंशन कहा जाता है। लो ब्लड प्रेशर की कमी से चक्कर और बेहोशी आने लगती है। वैसे तो यह एक आम समस्या है लेकिन कई लोगों को लो ब्लड प्रेशर (हाइपोटेंशन) की वजह से काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

BP Low Symptoms In Hindi

इसलिए कभी भी Low blood Pressure को हल्के में नहीं लेना चाहिए। अत्यधिक ब्लड प्रेशर कम होने पर शरीर के ऑर्गन्स फेल होने लगते है और दिल के दौरा व किडनी फेल होने की समस्या भी हो सकती है। आप को बता दें कि आज के समय में बीपी कम होने की समस्या एक आम बात हो गई है।

यहीं कारण है कि ज्यादातर लोगों को ब्लड प्रेशर कम होने के बारे में पता नहीं चलता है। इसलिए आज की इस पोस्ट में Low Blood Pressure Symptoms In Hindi, शरीर में कितना खून होना चाहिए और ब्लड प्रेशर लो क्यों होता है इस बारे में बताएंगे तो चलिए शुरू करते है…

Low Blood Pressure क्या है – What Is Low Blood Pressure In Hindi

यदि किसी व्यक्ति को चक्कर या अधिक थकान हो रही हो तो डॉक्टर से अपना बीपी चेक करायें क्योंकि चक्कर आने के कारण भी ब्लड प्रेशर कम हो सकता है। आपको बता दें कि शरीर में नॉर्मल ब्लड प्रेशर की सामान्य मात्रा 120/80 होती है। यदि किसी व्यक्ति का बीपी 60 से नीचे पहुँच जाता है तो इसको Low Blood Pressure (LBP) कहा जाता है।

ब्लड प्रेशर का कम होना कई वजह से हो सकता है। जैसे – अधिक स्ट्रेस लेना, गलत खान-पीन खाना, अधिक समय तक भूखा रहना और शरीर में पानी की मात्रा कम होना आदि।

लो बीपी के लक्षण – BP Low Symptoms In Hindi

ब्लड प्रेशर कम होने पर व्यक्ति को नीचे दिए निम्न लक्षण महसूस होने लगते है। यदि किसी व्यक्ति को इनमें से कोई भी लक्षण महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

  • बेहोशी आना – यह लक्षण सबसे कॉमन है। ज्यादातर मरीजों में ब्लड प्रेशर कम होने पर बेहोशी होने लगती है।
  • जी मिचलाना – वैसे तो यह ब्लड प्रेशर कम होने का ही एक लक्षण है लेकिन डॉक्टर्स के मुताबिक बीपी कम होने पर जी मिचलने लगता है।
  • आँखों की दृष्टि धुंधली होना – ब्लड प्रेशर ज्यादा कम होने पर रोगी को धुंधला-धुंधला दिखाई देने लगता है।
  • थकान होना – यदि किसी व्यक्ति को बिना कोई काम किये थकान महसूस हो तो यह भी BP कम होने का एक संकेत हो सकता है।
  • खून की कमी होना – अगर किसी व्यक्ति को अंदरूनी चोट या कोई बड़ी चोट लगी हो। जिसकी वजह से अधिक खून शरीर से निकल गया हो तो शरीर में अपने आप खून की कमी हो सकती है और इस कारण ब्लड प्रेशर भी कम हो सकता है।
  • त्वचा पर रूखापन होना – यदि किसी व्यक्ति की त्वचा अधिक रूखी या ठंडी रहती है तो यह भी एक बीपी कम होने का लक्षण हो सकता है।
  • साँस लेने में परेशानी महसूस होना – ब्लड प्रेशर कम होने पर कई समस्याएं होने लगती है और उन समस्याओं में से साँस की समस्या भी एक है। (BP Low Symptoms In Hindi)
  • भ्रम होना – यदि किसी व्यक्ति को बार-बार भ्रम हो रहा हो तो यह बीपी कम होने का भी एक संकेत हो सकता है।

लो ब्लड प्रेशर के कारण – Causes Of Low Blood Pressure

ब्लड प्रेशर कम होने के लक्षण जानने के बाद आपको यह होना चाहिए कि किन कारणों की वजह से Low Blood Pressure causes होता है। हमारे द्वारा बतायें गये कारणों को ध्यानपूर्वक पढ़ने के बाद हो सकता है कि आपके ब्लड प्रेशर लो होने के चांस कम हो जायें। चलिए शुरू करते है कि Reasons For Low BP के बारे में…

  • प्रेग्नेंट महिलाओ का ब्लड प्रेशर अक्सर कम हो जाता है क्योकि यह एक ऐसा समय होता है जब गर्भवती महिलाओं को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। आपको बता दें कि गर्भावस्था के समय में संचार प्रणाली तेजी से फैलती है और इस कारण ब्लड प्रेशर कम हो जाता है।
  • दिल की बीमारी होने पर भी कई लोगों का ब्लड प्रेशर कम हो जाता है। जैसे – दिल का दौरा पड़ना, वाल्व में दिक्कत होना और हदय की गति का कम होना आदि।
  • कई दवाइयां ऐसी होती है जिनकी वजह से ब्लड प्रेशर कम हो जाता है। यदि कोई व्यक्ति लम्बे समय तक किसी रोग या बीमारी की दवा लेता है तो हो सकता है कि ब्लड प्रेशर नॉर्मल से थोड़ा कम हो जाये।
  • यदि किसी व्यक्ति को टेंशन, डिप्रेशन, डायबिटीज, थायरॉइड या एडिसन्स की बीमारी है तो इस अवस्था में भी ब्लड प्रेशर कम हो जाता है।
  • हर व्यक्ति को पौष्टिक आहार खाना चाहिए। डॉक्टरों का मानना है कि शरीर में विटामिन B12 फोलेट, आयरन की कमी होने पर ब्लड प्रेशर कम हो जाता है और फिर व्यक्ति एनीमिया का शिकार भी हो सकता है।
  • हर व्यक्ति को प्रतिदिन अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए। कई बार ऐसा होता है कि शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा न होने पर चक्कर आने लगते है और बुखार, डायरिया व उल्टी आदि की समस्याएं होने लगती है। यह एक Low BP Causes है।

लो ब्लड प्रेशर से बचने के उपाय – prevention Of Low Blood Pressure In Hindi

यदि किसी व्यक्ति को ब्लड प्रेशर की समस्या है तो नीचे दिए निम्न उपायों को जरूर अपनाएं। इन उपायों को अपनाकर आप अपने ब्लड प्रेशर की कमी से बच सकते हो।

  • कम ब्लड प्रेशर वाले मरीजों को अपने खान-पीन में नमक को शामिल करना चाहिए। क्योंकि डॉक्टर्स के मुताबिक साधारण मात्रा में नमक खाने से ब्लड प्रेशर नॉर्मल रहता है।
  • अत्यधिक शराब, सिगरेट और नशीले पदार्थों का सेवन न करें क्योंकि इनके खाने-पीने से ब्लड प्रेशर कम हो जाता है।
  • अधिक से अधिक फल और हरी-सब्जियों का सेवन करें।
  • टेंशन और स्ट्रेस न लें और सुबह उठते समय धीरे से उठें।
  • हर दिन करीब 8 से 12 गिलास पानी पियें। क्योंकि शरीर में भी पानी की कमी होने से ब्लड प्रेशर कम हो सकता है।
  • हर व्यक्ति को लगभग 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए क्योंकि नींद की कमी होने से भी बीपी कम होने की समस्या हो सकती है।

बीपी लो के घरेलू उपाय – low blood pressure treatment In Hindi

अगर किसी भी व्यक्ति को ब्लड प्रेशर कम होने के लक्षण दिखाई दें तो उसे डॉक्टर से जरूर संपर्क करना चाहिए और अपना इलाज करवाना चाहिए लेकिन आप हमारे द्वारा बताये गये घरेलु उपायों की मदद से भी ब्लड प्रेशर कम होने की समस्या को कुछ हद तक ठीक कर सकते हो जो कि इस प्रकार है…

  • नींबू पानी, इलेक्ट्रिक पाउडर घोल या चीनी नमक को पानी में मिलाकर पीने से आप अपने ब्लड प्रेशर को आसानी से कंट्रोल में ला सकते हो।
  • जिन मरीजों को लो ब्लड प्रेशर की समस्या है उनको चाय या कॉफी जैसे कैफीन पदार्थ का सेवन करना चाहिए। ब्लड प्रेशर को नियंत्रण में लाने के लिए यह सबसे आसान और सरल तरीका है।
  • ब्लड प्रेशर को नियंत्रण करने का सबसे अच्छा तरीका गाजर और पालक है। यदि 200 ग्राम गाजर के रस में 50 ग्राम पालक के रस को मिलाकर पियें तो यह ब्लड प्रेशर को नियंत्रण रखता है।
  • केला, पालक, मूली और पपीता भी ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में लाने का सबसे अच्छा तरीका है।
  • यदि आपका ब्लड प्रेशर अक्सर कम या ज्यादा हो जाता है तो आपको प्रतिदिन व्यायाम व योगा करना चाहिए। ऐसा करने से कुछ महीनों में ही आपके ब्लड प्रेशर की समस्या जड़ से खत्म हो जायेगी।
  • तुलसी के पत्तों के कई फायदे होते है। सुबह के समय 5 से 6 पत्तों को चबाने से मैग्नेशियम, पोटैशियम और विटामिन-सी प्राप्त होता है। तुलसी के पत्तों का सेवन करने से शरीर में खून का संचालन ठीक से होता है और ब्लड प्रेशर भी नियंत्रण में रहता है।
  • मुनक्का, ब्लड सर्कुलेशन के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। रात के समय में मुनक्का को भिगोकर रख दें और सुबह दूध के साथ उबालकर खायें। ऐसा करने से ब्लड सर्कुलेशन भी ठीक से होता है।

FAQ in Hindi – आपके सवाल/हमारे जबाव

1. पतंजलि लो ब्लड प्रेशर मेडिसिन कौन-सी है? (Low BP Medicine Name)

अश्वशीला कैप्सूल

2. Blood Pressure Kitna Hona Chahiye? (Normal BP Kitna Hota Hai)

120 में से 60 या इससे कम होने पर ब्लड प्रेशर लो होता है और सामान्य ब्लड प्रेशर 120/80 होता है।

3. लो ब्लड प्रेशर का आयुर्वेदिक उपचार क्या है?

अदरक के छोटे-छोटे टुकड़ों के साथ नींबू और सेंधा नमक मिलाकर खाने से ब्लड प्रेशर की समस्या ठीक होती है।

4. बीपी लो होने के नुकसान क्या-क्या है?

बीपी कम होने से रोगी के शरीर में खून का संचालन ठीक से नहीं होता है और हार्ट अटैक, किडनी व स्ट्रोक जैसी समस्याएं होने लगती है।

5. लो ब्लड प्रेशर के लिए योग बतायें?

सूर्य नमस्कार और ताड़ासन करने से लो ब्लड प्रेशर संतुलन रहता है और ऐसा करने से शरीर में लचीलापन भी आता है।

6. लो ब्लड प्रेशर की अंग्रेजी दवा का क्या नाम है?

मेडिकल स्टोर से बीपी लो की दवा डॉक्टर की सलाह के बाद ही लें अन्यथा घरेलू उपचार या आयुर्वेदिक उपचार को अपनाएं।

7. बीपी लो की क्या पहचान है?

सिर चकराना, बेहोशी और दृष्टि धुंधली होना आदि।

8. उच्च रक्तचाप के लक्षण क्या है? (High BP Symptoms In Hindi)

साँस लेने में दिक्कत होना, सिरदर्द, आँखों का धुंधला होना और नाक से खून बहना आदि।

9. ब्लड प्रेशर को किस मशीन द्वारा मापा जाता है?

एनीरॉयड मॉनिटर द्वारा

10. बीपी कम होने पर किस नमक का सेवन करना चाहिए?

सेंधा नमक

यह भी पढ़ें –

Conclusion –

दोस्तों, आज की पोस्ट में हमने आपको बताया कि ब्लड प्रेशर कम होने के क्या कारण है और BP Low Symptoms In Hindi के बारे में, इसके आलावा हमने आपको ब्लड प्रेशर से जुड़ी कई जानकारियाँ दी है। यदि आप हमसे BP से सम्बंधित कोई भी सवाल पूछना चाहते हो तो कमेंट बॉक्स के जरिये पूछ सकते हो। धन्यवाद…

Leave a Comment