Deriphyllin Tablet Uses in Hindi – डेरिफीलिन टैबलेट की पूरी जानकारी

Deriphyllin Tablet Uses in Hindi – डेरिफीलिन टैबलेट का इस्तेमाल घबराहट, फेफड़े और साँस से जुड़ी समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता है। यह Bronchodilator वर्ग के अन्तर्गत आने वाली दवा है और बच्चों से लेकर बुजुर्ग व्यक्ति तक इस दवा को इस्तेमाल कर सकते है।

Deriphyllin Tablet Uses in Hindi

डॉक्टर की निगरानी में इस दवा को लेना चाहिए। मरीज को सुबह या शाम दिन में एक बार  400 या 600 मिलीग्राम की टैबलेट लेनी चाहिए। डेरिफीलिन टैबलेट को Zydus Cadila कंपनी द्वारा निर्माण किया गया है। अगर इसकी कीमत (Deriphyllin Price) की बात करें तो ₹17/30 टैबलेट है।

Deriphyllin Tablet Uses in Hindi  (डेरिफीलिन टेबलेट के फायदे)

डेरिफीलिन टैबलेट का इस्तेमाल नीचे दिए निम्न इलाजों के लिए किया जाता है।

  • जकड़न और साँस लेने में परेशानी होने पर मरीज इस टैबलेट का उपयोग कर सकते है।
  • इसके आलावा कफ, दम घुटने पर और छाती में असहनीय दबाव के इलाज में भी इस टैबलेट का उपयोग किया जाता है।
  • यदि छोटे बच्चों को साँस लेने में परेशानी हो रही तो इस अवस्था में भी बाल रोग चिकित्सक की सलाह लेकर इस दवा का इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • बलगम खांसी और क्रोनिक प्रतिरोधी फुफ्फुसीय रोग (COPD) को भी ठीक करने के लिए मरीज डेरिफीलिन दवा का इस्तेमाल कर सकता है।

Deriphyllin Side Effects in Hindi – Tab Deriphyllin के दुष्प्रभाव

गलत तरीके से डेरिफीलिन टैबलेट का सेवन करने से मरीज को नीचे दिए हुए निम्न साइड-इफेक्ट्स हो सकते है।

  • इस टैबलेट को लेने से पेट खराब, पेट-दर्द और उल्टी आने की समस्या हो सकती है।
  • बेचैनी और सिर भारी महसूस होना (सिरदर्द) के लक्षण भी इस टैबलेट के साइड-इफेक्ट माने जाते है।
  • कई मरीजों में यह टैबलेट लेने के बाद त्वचा पर एलर्जी, ज्यादा पेशाब आना और एसिडिटी की परेशानी भी देखी गई है।
  • इन सभी साइड-इफेक्ट के आलावा ब्लड प्रेशर में गिरावट, नींद कम आना और पैरों पर भी सूजन भी होने लगती है।

कुछ जरूरी सावधानियां –

डेरिफीलिन टैबलेट लेने से पहले मरीज को निम्न सावधानियों का ध्यान रखना जरूरी है।

  • Deriphyllin दवा को खरीदने से पहले एक्सपायरी डेट जरूर चेक करें।
  • शराब के साथ डेरिफीलिन दवा को न लें क्योंकि मरीज के स्वास्थ्य पर गलत प्रभाव हो सकता है।
  • गर्वभती महिलाओं को Deriphyllin Tablet डॉक्टर की सलाह लेने के बाद लेनी चाहिए।
  • स्तनपान महिलाओं पर इस टैबलेट पर गलत दुष्प्रभाव पड़ता है।
  • हदय और लिवर की बीमारी से पीड़ित मरीज को इस टैबलेट के साइड-इफेक्ट्स दिख सकते है। इसलिए इसको इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह लें।

डेरिफीलिन टैबलेट काम कैसे करती है –

Deriphyllin Tablet (एटोफाईलाइन+ थियोफाईलाइन) तत्वों से मिलकर बनी है। इनका काम फेफड़ों में हवा की गति को बनाये रखना  होता है। यदि किसी मरीज को साँस लेने में परेशानी होती है तो उसकी वायुनलिका सिकुड़ जाती है और फिर मरीज को साँस लेने में परेशानी होने लगती है और छाती में दबाब महसूस होना शुरू हो जाता है।

डेरिफीलिन टैबलेट का काम शरीर में जाकर ब्रोन्कियल गुहाओं को पतला करना होता है। जिससे साँस लेने की परेशानी ठीक हो सके। इस तरह से यह दवा हमारे शरीर में काम करती है।

Deriphyllin Composition in Hindi –

  • Etofylline (77mg)
  • Theophylline (23mg)

Deriphyllin Tablet की खुराक – Deriphyllin Dosage in Hindi

डेरिफीलिन टैबलेट को लेने से पहले निम्न बातों का ध्यान रखें और गलत तरीके से इस दवा का सेवन करने से बचें।

  • डेरिफीलिन टैबलेट मरीज की स्थिति, हार्टबीट, एलर्जी और मेडिकल हिस्ट्री पर निर्भर करती है।
  • मरीज को 400 से 600 mg की एक गोली सुबह या शाम लेनी चाहिए।
  • तोड़कर या कुचलकर टैबलेट को न खाएं। पानी के साथ निगलकर खायें।
  • बच्चों को टैबलेट की आधी खुराक खिलानी चाहिए।
  • गलती से दवा की खुराक भूल जाये तो अगली खुराक के साथ दो टैबलेट न खाएं।
  • अधिक मात्रा में दवा को खाने से साइड-इफेक्ट्स हो सकते है। साइड-इफेक्ट्स होने पर डॉक्टर से सलाह लें।

डेरिफीलिन टैबलेट के विकल्प क्या हैं – Deriphyllin Tablet Substitutes 

  • Euroder 77 mg/23 mg Tablet
  • Deripen 77 mg/23 mg Tablet
  • Agrophyllin 77 mg/23 mg Tablet
  • Graphyllin Tablet

Deriphyllin Tablet Interaction –

शराब के साथ – 

  • शराब के साथ दवा इंटरैक्ट करके चक्कर, नींद न आना, दृष्टि धुंधली होना और अन्य तरह की समस्याएं होने लग जाती है।

दवाओं के साथ – नीचे दी निम्न दवाओं के साथ डेरिफीलिन टैबलेट को न लें।

  • Carbamazepine
  • Fluvoxamine
  • Phenytoin
  • Propranolol

रोग के साथ – यदि किसी मरीज को निम्न रोग है तो वह इस टैबलेट को न लें।

  • उच्च रक्तचाप
  • लिवर रोग
  • किडनी
  • हृदय रोग

Disprin Tablet FAQ in Hindi – आपके सवाल/हमारे जबाव

1. डेरिफीलिन टैबलेट का गुर्दे पर क्या असर पड़ता है?

गुर्दे की बीमारी से पीड़ित मरीजों को यह दवा डॉक्टर की सलाह लेने के बाद लेनी चाहिए (गुर्दे पर कम असर पड़ता है)

2. डेरिफीलिन का उपयोग कब किया जाता है? (Deriphyllin Uses in Hindi)

कफ होने पर, दम घुटने पर, छाती में दबाव, जकड़न और साँस लेने में परेशानी होने पर

3. Deriphyllin Tablet के साइड इफेक्ट्स क्या है?

सिरदर्द, पेट खराब, उल्टी, ज्यादा पेशाब आना और एसिडिटी आदि साइड-इफेक्ट्स है।

4. क्या एल्कोहल के साथ डेरिफीलिन टैबलेट को लेना सुरक्षित है?

बिलकुल भी सुरक्षित नहीं है।

5. डेरिफीलिन टैबलेट को भोजन के साथ खाना चाहिए या बिना भोजन के खाना चाहिए।

भोजन से 1 या 2 घंटे पहले इस दवा का सेवन करना चाहिए।

6. डेरिफीलिन Tablet लेने के बाद असर कब शुरू होता है?

12 से 14 घंटों के अंदर असर शुरू हो जाता है।

7. क्या यह दवा भारत में लीगल है?

हाँ, Deriphyllin भारत में लीगल है

8. एक दिन में कितनी बार Deriphyllin Tablet In Hindi खानी चाहिए?

2 बार से अधिक नहीं

9. Deriphyllin टैबलेट का निर्माण किस कंपनी द्वारा किया गया है?

Zydus Cadila कंपनी द्वारा इसका निर्माण किया गया है।

10. इस टैबलेट की कीमत (Deriphyllin 150 Price) क्या है?

इसकी कीमत ₹17/30 टैबलेट है। 

यह भी पढ़े – 

Conclusion –

दोस्तों, आज की इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि Deriphyllin Tablet क्या है और Deriphyllin Tablet Uses in Hindi के बारे में, इसके आलावा हमने आपको डेरिफीलिन Medicine/Tablet  के बारे में कई तरह की जानकारियां दी। हमारी इस पोस्ट के बारे में आपकी क्या राय है। हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें।

Disclaimer – कृपया ध्यान दें, डेरिफीलिन दवा को लेने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें अन्यथा हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं होगी।

Leave a Comment